वजाइना को हेल्थी रखने वाले सुपरफूड्स

Views:3810

वजाइना हेल्थ  का नाम आते ही अधिकतर पुरुषों का ध्यान उन खाद्य खाद्य पदार्थों की तरफ जाता है जो कामेच्छा को बढाते है लेकिन योनि अर्थात वजाइना सेक्स ख़ुशी देने के साथ साथ और भी बहुत से काम करती है, इसलिए इसकी पर्याप्त साफ़ सफाई और वजाइना स्वास्थ्य के लिए आहार की तरफ खास ध्यान देना चाहिए।



वजाइना को बैक्टीरिया संक्रमण से दूर रखने और योनि का पीएच बनाए रखने के लिए एक स्वस्थ आहार का समर्थन सभी डॉक्टर करते है। आइयें जानतें है कि को वजाइना को स्वस्थ रखने के लिए किस किस डाइट पर अधिक ध्यान देने की आवश्यकता पड़ती है।




प्रोबायोटिक गुणों वाली दही
: दही बैक्टीरिया का एक सर्वश्रेस्ठ स्रोत है। दही में पाया जाने वाला प्रभावी प्रोबायोटिक अच्छे और बुरे बैक्टीरिया की आबादी के बीच संतुलन बनाए रखने का काम अच्छे से करता है। यदि आपकी वजाइना संक्रमण में कमजोर है तो आपको दही को नियमित रूप से अपनी थाली में प्रयोग करना चाहिए। आप यूनानी दही भी प्रयोग में ला सकती है इसके अतरिक्त यदि आप ग्रीक दही को प्रयोग करती है तो यह एक प्रोबायोटिक होने के साथ साथ दो गुना प्रोटीन में मिलेगा।



पालक : पालक मैग्नीशियम का उच्च स्त्रोत होता है जो वजाइना हेल्थ के लिए काफी उपयोगी साबित हो सकता है पालक खाने से सूजन कम होती है और रक्त परिसंचरण में सुधार करती है। पालक रक्त की आपूर्ति भी सुनिश्चित करता है और आपकी वजाइना को हेल्दी रखने में मदद करती है। इसके अलावा नियमित संभोग के दौरान योनि को रक्त की आपूर्ति बढ़ जाती है जो आपको उत्तेजित करती है। पालक में मैग्नीशियम फ्लैनोनोड्स, कैरोटीनॉइड और ओमेगा-3 फैटी एसिड भी पाया जाता है।



सोया प्रोडक्ट : सोया प्रोडक्ट्स में फाइटोइस्ट्रोजेन्स उच्च मात्रा में होता है जो पौधों के स्रोत से प्राप्त एस्ट्रोजेन हैं। यदि आप नियमित रूप से सोया प्रोडक्टस को फूड्स के रूप में लेती है तो वजाइना के सूखेपन से लड़ने में मदद मिलेगी। आप सोया प्रोडक्ट्स में नट्स सन बीज, दूध और साबुत अनाज के रूप में ले जा सकती है। यह सभी प्रोडक्ट्स बॉडी में एस्ट्रोजेन का स्तर कम करने और फाइटोस्टास्टेंस लेने से नुकसान के लिए क्षतिपूर्ति करेंगे।



लहसुन : लहसुन में एलिकिन पाया जाता है। इसके अतरिक्त इसमें एक उत्कृष्ट एंटीबायोटिक गुण होता है जो मुख्य रूप से रोगाणुरोधी गुणों के लिए जाना जाता है। यदि आप वजाइना संक्रमण से पीड़ित हैं, तो उससे छुटकारा पाने के लिए रात में योनि में कच्ची या पका हुआ लहसुन सम्मिलित कर सकते हैं यह संक्रमण से तुरंत राहत देने का काम करता है। लहसुन रक्त परिसंचरण में वृद्धि करने और सेक्स स्वास्थ्य में भी सुधार करने में सक्षम है।



पपीता : मासिक धर्म में महिलाओं को अधिकतर धर्म ऐंठन से दो चार होना पड़ता है। इस दर्द से आपको राहत देने के लिए सबसे अच्छे खाद्य पदार्थों में से पपीते का प्रयोग किया जा सकता है। पपीते में विटामिन ए और सी उच्च मात्रा में पाया जाता है। इसमें पाया जाने वाला आयरन और कैल्शियम वजाइना हेल्थ  में अहम भूमिका निभाता है। एक बात का ध्यान हमेशा रखें कि मासिक धर्म के ऐंठन और पेट में दर्द में कच्चा पपीता अधिक लाभदायक होता है।


इन सभी सुपरफूड्स को रोजाना अपनी डाइट का हिस्सा बना कर रखने से आपको वजाइना हेल्थ के लिए और अधिक प्रयास की जरूरत नही पडती है। इसके अतरिक्त आप अपनी बॉडी को हाइड्रेटेड रखने के लिए पानी का प्रयोग करना ना भूले। यदि आप योनि को स्वस्थ रखने के लिए बहुत ज्यादा चीनी का सेवन करने से बचे तो फिर यह आपकी वजाइना को अधिक उम्र तक हेल्थी रखने में एक बेहतरीन कदम माना जाएगा।

Health A To Z!#Health And Wellness!#Health Care Tips!#Vaginal Healthy Tips

Comment Box

    User Opinion
    Your Name :
    E-mail :
    Comment :

Most Popular Facts

Most Popular Health Post

Most Popular Relationship Articles

Category

अनुष्का शर्मा से जुड़े सौंदर्य और स्वास्थ्य


अस्थमा


आँखों की देखभाल


आयुर्वेदिक होम टिप्स


आलिया भट्ट का डाइट प्लान


एनीमिया


एलर्जी


औरत के लिये


कद बढाने के टिप्स


किशोर


कैंसर


कैटरीना कैफ से जुड़े सौंदर्य और स्वास्थ्य टिप्स


कोल्ड


क्रॉस लेग पोजीसन में बैठना


गर्दन


गर्भपात


गर्भावस्था


गर्मियों में त्वचा की देखभाल


गर्मी


घुटनों के टिप्स


झाइयां


झुर्रियाँ


डायबिटीज


डिप्रेशन


डेंगू


तनाव


त्यौहार


त्वचा


त्वचा की देखभाल


दाँतों की देखभाल


दिमाग की याददाश्त और शक्ति को बढाने के टिप्स


दिल की बीमारी


दुल्हन


नींबू पानी फायदे


पसीने की दुर्गन्ध से छुटकारा पाने के टिप्स


पालन पोषण


पिंपल


पीरियड


पुरुषों के स्वास्थ्य के टिप्स


पेनिस


पेशेंट की कहानियां


पैरों की देखभाल


फलो के लाभ


फिट रहने के उपाय


बच्चे


बच्चों की देखभाल के टिप्स


बट का आकर बढ़ाने वाले टिप्स


बट मुँहासे के लिए टिप्स


बालों की देखभाल


बीज


बेबी


ब्रेस्ट


ब्रेस्ट हेल्थ टिप्स


महिला स्वास्थ्य के टिप्स


महीना वाइज टिप्स


मानसिक विकार


मुँहासे


मुहांसों से बचाव


मूत्र रंग


मेकअप


योग


वजन घटाने के टिप्स


वजन बढ़ाने के टिप्स


व्यायाम और योगा


सुंदरता से संबंधित टिप्स


सेक्स


सेक्स संबंधित समस्या


सेक्सी पीठ


सेलिब्रिटी हेल्थ टिप्स


सेल्युलाईट से छुटकारा पाने के लिए घरेलू उपचार


स्वाइन फ्लू


स्वाभाविक रूप से टिप्स


स्वास्थ्य और कल्याण


स्वास्थ्य संबंधित टिप्स


स्वास्थ्य A से Z


हरी चाय


होठों की देखभाल के टिप्स


होली


अदिति राव हैदरी से जुड़े सौंदर्य और स्वास्थ्य टिप्स


आलू


एसिडिटी का कारण लक्षण और इलाज


कमजोरी


करवा चौथ


कोल्ड फ्लू


गर्भवती हेल्थ


ग्लो त्वचा


घरेलू नुस्खे


घरेलू फेस पैक


जैकलिन फर्नांडीज फिटनेस सीक्रेट


टखने की चोट से जल्द ठीक करने के उपाय


डार्क सर्कल


डेंगू बुखार


ड्रिंक


त्रिकोणासन


दिशा पटानी के ब्यूटी टिप्स


नाखून


नींद


पपीते के पत्ते के फायदे


पानी


पीठ दर्द


प्रेगनेंसी डाइट


फर्टिलिटी


फर्टिलिटी संबंधी समस्या


बांझपन स्वास्थ्य समस्या


बालों का झड़ना


ब्रेकफास्ट


ब्लड शुगर


मेटाबोलिज्म


याददाश्त को बूस्ट करने वाले कुछ बेहतरीन फूड्स


वजाइना को हेल्थी रखने के टिप्स


वायु प्रदुषण


विटामिन


विटामिन ई


विटामिन ए


विटामिन के


विटामिन डी


विटामिन बी


विटामिन सी


शुगर


शोध


सांसों की बदबू को रोकने के लिए उपाय


साइनसाइटिस


स्ट्रेच मार्क्स


स्तनपान


हस्तमैथुन


हाथों की देखभाल के टिप्स


Back to Top