रातों रात पिंपल से छुटकारा पाने के सुपर प्रभावी और शॉर्टकट उपाय


Views:295410

पिंपल की समस्या हम सभी को प्रभावित करता है लेकिन कुछ लोगो को इस समस्या से जल्द राहत मिल जाती है और कुछ लोग जीवन भर इस समस्या से जूझते रहते है। तैल-ग्रंथियाँ सीबम में अतिरिक्त स्त्राव इस समस्या का मूल कारण है। पिंपल यकीनन भीर स्वास्थ्य समस्या नहीं है लेकिन फिर भी बेदाग और खूबसूरत चेहरे पर एक्ने और पिंपल की समस्या आ जाएँ तो दुखी होना स्वाभाविक है।



जिस दिन से पिंपल का हमारे चेहरे से सामना होता है उसी दिन से हम जल्दी से जल्दी इसे अपने चेहरे से हटाने के प्रयास में लग जाते है और अपने प्रयास में हम कोई कसर नही छोड़ते। खैर अगर आपके चेहरे से पिंपल गायब हो गये तो यह आपके लिए खुशखबरी है लेकिन अगर आपके चेहरे से पिंपल गायब नही हुए है तो कुछ उपचार नीचे दिए है जिनकी मदद से आपको परेशान करने वाले पिंपल से मुक्ति मिल जायेंगी।





अंडे सा सफेद हिस्सा: अंडे के सफेद भाग का प्रयोग पिंपल दूर के लिए सबसे सस्ता और आसान तरीका है। आप तीन चार अंडे लेकर उनमें से जर्दी निकाल लें और फिर पिंपल से प्रभावित क्षेत्र पर तीन या चार बार लगायें। अंडे का सफेद भाग में अमीनो एसिड होता है जो पिंपल हटाने और त्वचा को बेदाग बनाने में आपकी मदद करता है।





टूथपेस्ट से पिंपल का उपचार: टूथपेस्ट पिंपल को सुखाने और जलन को कम करने में मदद करता हैं। टूथपेस्ट के अंदर बेकिंग सोडा, हाइड्रोजन पेरोक्साइड, शराब और मेन्थॉल शामिल होता है जो पिंपल की रोकथाम में काफी उपयोगी साबित होता है। बिस्तर पर जाने से पहले हम प्राकृतिक टूथपेस्ट को केवल प्रभावित क्षेत्र पर लगाने की सलाह देते है और आप सुबह हल्के गुनगुने पानी से इसे साफ़ कर लें यें सुझाव भी पिंपल के उपचार में असरदार साबित होता है।





मैग्नीशिया का दूध: तेलिय त्वचा वाले लोगो के लिए मैग्नीशिया का दूध बहुत जरूरी है और इसकी गिनती पिंपल्स को चेहरे से जल्द से हटाने वाले उपायों में होती है। जल्दी और उत्कृष्ट परिणाम में लिए मैग्नीशिया का दूध इसलिए कारगर होता है क्योकि यह त्वचा से अतिरिक्त तेल को जल्दी सोख लेता है। महिलायें इसे मेकअप प्राइमर के रूप में भी उपयोग में ला सकती है।



नोट: सूखी त्वचा वाले लोगों पर मैग्नीशिया का दूध अच्छी तरह से काम नही करता है।





सैलिसिलिक एसिड: सूखी त्वचा वाले लोगों के लिए है पिंपल को दूर करने का अच्छा मार्ग सैलिसिलिक एसिड है। यह अन्य लोशन की अपेक्षा कम जलन करता है और शांत प्रभाव डालता है। सैलिसिलिक एसिड रोम छिद्र की सफाई कर पिंपल होने वाले कारणों में कमी लाने में मदद करता है।





मेथी का पेस्ट: आप ताज़ी मेथी की पत्तियां तोड़ कर एक पेस्ट बना ले और फिर उस पेस्ट को रात को सोने से पहले पिंपल वाली जगह पर लगा लें। 10 से 15 मिनट तक इंतिजार करने के बाद गुनगुने पानी से पेस्ट हटा लें। यह उपाय पिंपल के साथ-साथ ब्लैकहेड और झुर्रियों को हटाने में भी मदद करता है।





नींबू: नींबू आसानी और जल्दी से पिंपल और उसके दाग मिटाने का काम करता है और यह विटामिन सी युक्त उपचार प्राकृतिक भी है। ताजा नींबू लेकर पिंपल पर लगाएं आपको लाभ जरुर मिलेगा। नींबू का उपयोग आप नियमित रूप से भी कर सकती है यह पिंपल्स को होने से भी रोकता है।





सिरका या लहसुन: जीवाणुरोधी गुण के कारण सिरका या लहसुन का उपयोग भी पिंपल के उपचार के रूप में किया जा सकता है।





एलोविरा: चेहरे पर पिंपल कर रहे हैं अधिक परेशान तो फिर एलोविरा आपके लिए किसी वरदान से कम नही है। ताजा एलोविरा पत्ता लेकर उसके अंदर से जेल निकाल कर प्रभावित पिंपल अंग पर लगायें। एलोविरा के अंदर बैक्टीरियल विरोधी गुण होते है जिसके कारण बैक्टीरिया को मारने में मदद करता है।



ऊपर दिए गए सुझावों का पालन करें और उन सभी पिंपल्स को दूर तो कर ही सकते है साथ में इन घरेलू उपचारों की मदद से पिंपल की रोकथाम भी आसानी से कर सकती है।


Comment Box