मालिश से मिलने वाले अविश्वसनीय लाभ के बारें में अभी जानें


Views:4580

विज्ञान कहता है कि माता-पिता शिशु की प्यार से देखभाल करते हुए मालिश को उसकी दिनचर्या का हिस्सा बनाते है तो वह बच्चे के विकास, कम्युनिकेशन और सीखने के लिए काफी महत्वपूर्ण योगदान देते है।



बच्चे की मालिश हर मां की दिनचर्या का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है और भारतीय परिवारों में शिशु की देखभाल में मालिश को बहुत ही महत्वपूर्ण जगह दी जाती है क्योकि भारतीयों घरों में आमतौर पर यह बात दोहराई जाती है कि मालिश करने से शिशु की हड्डियों और स्वास्थ्य दोनों काफी बेहतर रहते है। माँ का स्पर्श अपने साथ सेंसरी स्टिमुलेशन लाता है जो बच्चे के विकास के लिए काफी अहम है। नियमित रूप से अपने बच्चे की मालिश करने से माँ और बच्चे के संबंध बेहतर बनतें है जो बच्चे के समग्र स्वास्थ्य को बढ़ा देता है।

एक माँ के स्पर्श का जादू बच्चे के विकास के लिए सबसे महत्वपूर्ण अनुभवों में से एक है। एक माँ के कोमल और प्यार भरे हाथों से बच्चे की मालिश करने से एक तो वह मजबूत होते है साथ में उनकी चिंता भी कम होती है। कई अस्पतालों और केन्द्रों में नवजात शिशुओं को मां के सीने या पेट पर रखा जाता है जिसका अर्थ सिर्फ इतना होता है कि जितना संभव हो उतना त्वचा से माँ और शिशु के बीच संपर्क बना रहे क्योकि यह संपर्क बच्चे को शांत करने में मदद करता है और भावनात्मक रूप से लगाव पैदा करता है।

बच्चे के साथ माँ के बंधन में मजबूती के आलावा नियमित मालिश से बच्चे के स्वास्थ्य पर क्या क्या लाभ मिलते है उसके बारें में जानकारी नीचे दी गयी है और इसको जानना हर माता-पिता के लिए काफी अनिवार्य है।


  • मालिश आपके बच्चे को शांत करती है जिससे उसका रोना कम होता है।


  • पेट दर्द, गैस और कब्ज में राहत देकर पाचन में उसकी सहायता करती है।


  • शिशु का वजन बढ़ाने के लिए भी मालिश का प्रयोग किया जा सकता है।

  • रोजाना मालिश रात को सोते समय शिशु को गहरी नींद देने में मदद करने के साथ-साथ सोने का समय भी बढाती है।


  • नासिका और दांतों संबंधी शुरुआती परेशानी को मालिश दूर करती है।


  • मांसपेशी टोन बेहतर लचीला बनाने में मदद करने के अतिरिक्त उनको विकसित करने में अहम योगदार देती है।


  • शिशु शरीर के प्रति जागरूकता बढ़ाने का काम भी मालिश अच्छे से करती है।


  • प्रति दिन बेहतर ढंग से की गयी मालिश इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाती है।

  • मालिश नवजात बच्चे की त्वचा बनावट में सुधार लाती है।


  • प्यार से की गयी मालिश आपको और आपके बच्चे दोनों को आराम देने का काम भी बखूबी करती है।


  • आपके बच्चे के आत्मविश्वास को बढ़ाने और उसको संभालने में मालिश का अहम योदगान हो सकता है यदि आप रोजाना इसे बच्चे की देखबाल आदत में शुमार कर लें।


मालिश के इतने लाभ देखते हुए अगली बार स्नान के बाद अपने बच्चे को मालिश देना ना भूले। आपके प्यार से की गयी मालिश विकास के लिए ज्यादा मायने रखता है और आपके शिशु पर इसका सकारात्मक प्रभाव कुछ दिनों में ही नजर आने लगता है।


Comment Box