मुहाँसों को तुरंत मिटाने वाले कुछ हर्बल उपचार


Views:23810

मुँहासे और उसके बाद चेहरे पर पड़ने वाले दाग एक ऐसी त्वचा समस्या है जिसका सामना ज्यादातर लड़कियों को अपने जीवन में कभी न कभी करना पड़ता है। मुँहासे से छुटकारा पाने के लिए अधिकतर युवा लड़कियां मेकअप का सहारा लेकर उसे छुपाने का प्रयास करती है या फिर महंगे उपचार के चक्कर में फंस जाती है।


भारत में बहुत से ऐसी जड़ी बूटियां है जो आसानी से घरों में मिल जाती है और प्रभावी ढंग से मुँहासों व अन्य त्वचा की समस्याओं का इलाज करने में पूर्ण माहिर है। चेहरे पर बदसूरत दुष्प्रभाव छोड़ने वाले मुँहासे की रोकथाम व उपचार के लिए अगर आप भी प्राकृतिक तरीकों की तलाश कर रही है तो आपके लिए कुछ हर्बल उपचार नीचे दिए है जो निश्चित रूप से आपको इस त्वचा समस्या से राहत देने का काम करेंगी।



हर्बल तुलसी : मुँहासे से छुटाकारा दिलाने के लिए यह घरेलू हर्बल उपचार इसलिए अधिक लोकप्रिय है क्योकि यह बैक्टीरिया को मारने का काम करता है। पानी में कुछ तुलसी के पत्ते डालकर कम से कम 15 मिनट तक इसे उबाल लें उसके बाद गर्म हो रहे पानी को ठंडा करे लें । तुलसी और पानी के इस मिश्रण को छान ले और उसके बाद बोतल में सुरक्षित रखे लेंवे। प्रयोग के लिए तैयार इस घरेलू हर्बल प्रोडक्ट को अपने चेहरे पर दो बार कॉटन की मदद से डालें। निरंतर प्रयोग के बाद आप कम समय में काफी अच्छे परिणाम देखेंगे।


मुँहासे निशान को मिटाने के लिए ताजा तुलसी के पत्तों के रस बाहर निकाल कर रुई की मदद से मुँहासे निशान पर लगा सकते है। 10-15 मिनट रस लगाने के बाद साफ ठंडे पानी के साथ धो लें। इस तुलसी हर्बल उपचार की मदद से आपके मुँहासे निशान भी समय के साथ हल्के पड़ते जायेंगे। मुँहासे पर रोकथाम के अतिरिक्त तुलसी रक्त को शुद्ध और त्वचा को साफ रखने में भी मदद करता है।



हर्बल नीम : यह बात सभी अच्छी तरह से जानतें है खून को साफ़ करने और डिटॉक्सा में नीम अत्यधिक प्रभावी है। मुँहासे के लिए हर्बल उपचार में नीम अपनी उपयोगिता पूर्ण रूप से सिद्ध कर चूका है। मुँहासे पर नीम हर्बल उपचार का लाभ लेने के लिए नीम के सूखी पत्ते लेकर उनका पाउडर बना लें और उसके बाद गुलाब जल में इस नीम पाउडर को मिला कर एक पेस्ट बना लें। उसके बाद कुछ मिनटों को लिए पेस्ट को अपने मुँहासे प्रभावित स्थान पर लगा लें उसके बाद नीम पानी के साथ ही धो लें।


गुलाब जल और नीम के अतिरिक्त आप नीम का लाभ मुँहासे प्रभावित हिस्सों पर लेने के लिए पानी का उपयोग कर नीम के पत्ते का पेस्ट बना ले उसके बाद कम से कम 20 मिनट के लिए चेहरे पर लागू कर लें। आप मुँहासे के दाग मिटाने के लिए बाजार से कुछ नीम का तेल खरीद कर नियमित रूप से प्रयोग कर सुदंर त्वचा का लाभ ले सकती है।



हर्बल लैवेंडर : लैवेंडर मुँहासे से लड़ने के लिए उत्तम जड़ी बूटी है। लैवेंडर जीवाणुरोधी, एनाल्जेसिक और एंटीवायरल गुणों से संपन्न है। गुलाब जल के साथ लैवेंडर तेल का मिश्रण मुँहासे के लिए उत्कृष्ट उपचार साबित होता है। मुँहासे रोकथाम के साथ-साथ सूजन और लाल निशान को शांत करना का काम भी बड़े प्रभावी रूप से करता है। लैवेंडर तेल नियमित रूप से इस्तेमाल करने वालो को एक बात का खास ध्यान रखना चाहिए वह यह है कि लैवेंडर तेल काफी तेज होता है और त्वचा पर इसे सीधे लागू नही करना चाहिए। गुलाब जल अंगूर के बीज का तेल या पानी के मिश्रण के साथ हर्बल लैवेंडर का लाभ लेवें। लैवेंडर तेल की कुछ बूंदें मॉइस्चराइजर लेने के लिए दिन में प्रयोग किया जा सकता है।



हर्बल धनिया : मुँहासे और ब्लैक हेड्स से छुटकारा दिलाने में धनिया एक कारगर हर्बल उपाय है। अद्भुत जड़ी बूटी धनिया से मुँहासे का इलाज करने के लिए ताजा हरा धनिया पीस कर उसका एक रस निकाल लें। उसके बाद अपने चेहरे पर मुहाँसों और उसके पड़े निशान पर लगा लें और कुछ मिनटों के बाद धो लें। अगर आप धनिये से सर्वोत्तम परिणाम पाना चाहते है उस में नीबू का रस मिला दें।


अगर आप प्रभावी त्वचा टोनर के रूप में धनिया का इस्तेमाल करना चाहते है तो धनिया के बीज पानी में उबाल लें। त्वचा और मुहाँसों के जल्द इलाज के अतिरिक्त अंदर से आपकी त्वचा को साफ रखने के लिए धनिया जीरा और सौंफ बीज के मिश्रण से तैयार हर्बल चाय के रूप में उपयोग कर सकते है।



हर्बल एलोवेरा : महिलाओं के लिए यह जड़ी बूटी सबसे अधिक प्रिय है क्योकि यह जड़ी बूटी उनके सौंदर्य में निखार लाने और त्वचा में कोमलता देने का काम प्रभावित रूप से करती है। नियमित रूप से हर्बल एलोवेरा का उपयोग सुंदरता देने के आलावा मुँहासे और मुँहासे धब्बे को तुरंत मिटाने का काम करता है। आप एलोवेरा पत्ता तोड़ कर उसके गुदा से जेल निकाल कर त्वचा पर सीधे लगा लें। त्वचा पर जेल उपयोग के 20 मिनट बाद गुनगुने पानी से इसे धो लें। अगर आपके घर में एलोवेरा जेल नही है तो इस हर्बल उपचार का लाभ लेने के लिए दुकानों से खरीद सकते है।



चाय के पेड़ का तेल : कई अध्ययनों से यह साबित हो चूका है कि चाय के पेड़ का तेल रोगाणुरोधी प्रभाव के कारण मुँहासे की रोकथाम में मदद करता है। चाय पेड़ के तेल का लाभ त्वचा सूजन कम करने जा के लिए भी लिया जा सकता है। चाय पेड़ के तेल की कुछ बूंदों को पानी मिश्रित कर एक घोल तैयार कर लें उसके बाद कॉटन की मदद से अपने चेहरे पर लगा लें। मुँहासे की रोकथाम के लिए कुछ समय तक इसे चेहरे पर लगा रहने दें उसके बाद साफ़ कोमल कपडें से इसे साफ़ कर लें। आप इस घोल का मुहाँसों पर जल्द लाभ लेने के लिए दिन में कई बार अपने चेहरे पर इसे दोहरा सकते है।



हर्बल ग्रीन टी : ग्रीन टी एक तो मिलने में आसान होती है दूसरा मुहाँसों को त्वचा से गायब करने का यह के स्वादिष्ट तरिका भी है। ग्रीन टी को कई एशियाई संस्कृतियों में 'पिंपल टी' के नाम से पुकारा जाता है। अगर आप दिन में तीन चार कप ग्रीन टी पीते है तो यह मुँहासे से निपटने के साथ-साथ मुफ्त में चेहरे को चमक भी प्रदान करती है।


एंटीऑक्सीडेंट और डिटॉक्स गुण युक्त होने की वजह से त्वचा को नुकसान पहुचाने वाले डेड स्किन से राहत देने के साथ साथ ब्लैकहेड्स पर भी प्रभावी साबित होता है।


ग्रीन टी अगर आपको पीने में पसंद नही आती है तो आप मुहाँसों की रोकथाम के लिए टी बैग प्रभावित हिस्सों पर लगा कर उसे बढ़ने से रोक सकते है और मुहाँसों के निशान को भी गायब कर सकते है।


Comment Box