आंख त्वचा की देखभाल और काले घेरे जल्द गायब करने वाले कमाल के टिप्स


Views:12240

शायद ब्यूटी केयर में दुनिया भर की महिलाओं के लिए सबसे बड़ी चुनौती आँखों की निचली त्वचा की देखभाल करना है और इसका कारण यह है कि यह आँख के नीचे की त्वचा बहुत ही सवेंदनशील और विचारात्मवक होती है और उम्र बढ़ने के सबसे पहले संकेत भी इसी नाजुक त्वचा से मिलता है।



आँखों की नीचे केकी त्वचा हल्के से भी काले घेरे पड़ जाए तो महिलाओं को अकसर चिंता हो जाती है और उन्हें वह भारी मेकअप से छुपाने का प्रयास करती है लेकिन ये सभी मानतें है कि मेकअप से काले घेरे को छुपाने से अच्छा है कि आँखों के नीचे की त्वचा की देखभाल अच्छे और प्राकृतिक ढंग से की जायें ताकि आँखों के नीचे डार्क सर्कल पड़े ही नही। आप अपनी आँखों के नीचे की त्वचा का ध्यान आसान तरीके से कैसे रख सकते है आज हम अपने पाठकों को बताने जा रहे है।





नींद से प्यार : आँखों के नीचे की त्वचा पर काले घेरे पड़ने का सबसे पहला और मुख्य कारण है नींद की कमी होना। जब कभी भी आपकी लाइफस्टाइल में लगातार अनियमित नींद की आदत दाखिल हुई होगी आपने ध्यान दिया होगा कि आपकी ऑंखें सूजी हुई और थकी हुई नजर आती है वही अच्छी और पर्याप्त नींद लेने पर त्वचा को पूर्ण ऑक्सीजन मिलती है तथा रक्त परिसंचरण के लिए भी पूर्ण नींद आवश्यक है। जो महिलाएं बेहतर और पूर्ण नींद लेती है उनकी आँखों के नीचे की त्वचा अधिक कसी हुई स्वस्थ होती है और उनके चहरे पर हमेशा ग्लो भी बरकार रहता है। बिना मेकअप प्राकृतिक रूप से अपनी ख़ूबसूरती बनाए रखने के लिए पूरी नींद सबसे सरल आसान और सस्ता तरीका है।





फेशियल क्रीम को लेकर सावधानी बरतें : कई महिलायें अनजाने में अपनी सुंदरता के लिए साधारण मॉइस्चरिसेर्स युक्त क्रीम का प्रयोग आँखों के नीचे नियमित रूप से करती है जिससे उसका प्रभाव आँखों के नीचे की त्वचा पर पड़ता है और धीरे-धीरे काले घेरे उत्पन्न हो जाते है। आँखों की त्वचा चेहरे से तीन गुणा अधिक संवेदनशील होती है इसलिए चेहरे से अधिक ध्यान आँखों के नीचे की त्वचा का रखना पड़ता है। आँखों की आस पास की त्वचा के लिए अच्छी क्वालिटी वाली और पोषक तत्व युक्त सर्टिफाइड क्रीम का ही प्रयोग करें।





तकिया भी प्रभावित करता है : नेत्र त्वचा की समस्या रक्त के अनुचित संचलन से शुरू होती है और आँखों के नीचे की त्वचा में रक्त संचार की अधिकतर समस्या तकिए की पूर्ण जानकारी ना होने से शुरू होती है। अगर तकिया उचित ना हो तो यह आंख के नीचे के क्षेत्र में पर्याप्त पोषक तत्वों की आपूर्ति और उचित रक्त संचार प्रभावित हो जाती है। तकिए का उपयोग करते समय इस बात का खास ध्यान रखना चाहिए कि तकिया बहुत नरम और बहुत सख्त हरगिज ना हो और सिर के नीचे तकिये को ऐसे स्थापित करें कि सिर का झुकाव कम या बहुत अधिक ना हो तथा सिर का कोण भी सही और आरामदायक रहें।





विटामिन के को डाइट में शामिल करें : हम आँखों के नीचे पड़े काले घेरे को कम करने के लिए ना जानें कितने पैसों की क्रीमें आँखों की त्वचा पर रगड़ डालते है जबकि आँखों की त्वचा को अधिक ध्यान और विशेष पोषक तत्वों की जरूरत होती है। आँखों के नीचे की त्वचा की केयर के लिए आप विटामिन के को अपने दिनचर्या डाइट में शामिल कर सकती है। आप अपने आहार में हरी पत्तेदार सब्जियों और सोयाबीन की बड़ी मात्रा शामिल कर सकती है।





मालिश आपकी मदद कर सकती है : खून की उचित परिसंचरण सुनिश्चित करने के लिए हफ्ते में कम से कम एक बार अवश्य करें। आँखों पर मसाज देने से रक्त संचार में जब सुधार होता है तो आँखों के पीछे पड़े काले घेरे भी कम होने लगते है लेकिन अतिरिक्त संवेदनशील त्वचा की मसाज के लिए बेहतर क्रीम का चुनाव ही करें और मसाज बहुत धीरे-धीरे गति से करनी चाहिए। आप आँखों के नीचे के साथ-साथ आँखों के ऊपर भी मसाज करें क्योकि ऐसा करने से आपकी आँखों को बेहद आराम मिलेगा।





आँखों को ठंडक दें : ज्यादातर महिलाएं आँखों को ठंडक देने का नाम सुनते ही सिर्फ खीरे स्लाइस बना कर आँखों पर रखना जानती है। आँखों की निचली त्वचा पर कई रक्त वाहिकाएं होती है और इनकी देखभाल के लिए आप आइस क्यूब्स की मदद भी ले सकती है। आइस क्यूब्स के टुकड़े लेकर उनको आँखों की निचली त्वचा पर दो से तीन मिनट के लिए रगड़े। आप इस चिकित्सा का प्रयोग सप्ताह में दो बार कर सकती है इसके अलावा आप आँखों पर आलू के स्लाइस भी रख सकती है तथा आपको इनके परिणाम भी जल्द दिखने लग जाते है।




हमें पूर्ण विश्वास है कि ऊपर दिए गये सभी सुझाव फॉलो करने के बाद आप अच्छे से आँखों की नाजुक त्वचा की देखभाल कर सकेंगी और निश्चित ही नियमित रूप से टिप्स का पालन करने से आपकी आँखों के नीचे पड़े काले घेरे भी कम होंगे और हर रोज आप खुद को युवा और फ्रेस महसूस करेंगी।


Comment Box