रसोई में मिलने वाले सामान्य खाद्य पदार्थों जो हमे स्वस्थ रखेंगे


Views:2080

स्वस्थ खाने के बारे में ख्याल आते ही हमारे दिमाग में अधिकांश विदेशी सामग्री और मुश्किल से मिलने वाले व्यंजनों का ही ख्याल आता है हम अक्सर अपनी रसोई और  सामान्य रूप से मिलने वाले खाद्य पदार्थों को भूल ही जाते है। जब आप गौर करेंगे तो सामग्री का एक अच्छी खासी लिस्ट मिल जाएगी जो स्वास्थ के हिसाब से काफी गुणकारी है पर आप उनकी अनदेखी कर रहे हैं।


ये आम खाद्य पदार्थ कई प्राकृतिक इलाज के साथ-साथ आपको हमेशा चुस्त दुरस्त और स्वस्थ रखते है। नीचे हम कुछ सबसे अहम आम खाद्य पदार्थ की जानकारी दे रहे है जिनके शानदार स्वास्थ्य लाभ जानकार आप आश्चर्यचकित हो जायेंगे।







नारियल का तेल : अगर आप सोच रहे है कि नारियल का तेल सिर्फ बालों के पोषण देने के काम आता है तो आप ये सुन कर आश्चर्य में पड़ जायेंगे कि दक्षिण भारत के तटीय प्रेदेशो में लोग नारियल का तेल खाना पकाने में करते है।


आईये देखते है की नारियल का तेल दक्षिण भारतीय लोगो की सेहत पर कैसे काम करता है:


•    नारियल तेल मेटाबोलिज्म को उत्तेजित करता है जिससे हमारा पाचन तंत्र सुधरता है। साथ में ये कैलोरी उपयोग में वृद्धि पैदा करते है जिससे आपकी फैट तेजी से बर्न होता है और आप मोटापे से होने वाली बीमारियों से बच जाते है।


•    नारियल का तेल भोजन में इस्तेमाल आपको पित्ताशय की बीमारियों से तो बचाता है साथ में ये गुर्दे की हुई पथरी को मूत्र के रास्ते से बहार निकलने में भी आपकी काफी सहायता करता है।


•    ये एचडीएल कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाने में भी महत्पूर्ण रोल अदा करता है क्योकि इसका  इस्तेमाल लोरिक एसिड के लिए फायदेमंद है।


•    नारियल का तेल सब्जियों में उपजे रासायनिक तत्त्वों का असर कम करने के साथ-साथ हमारे शारीर को विषाक्त पदार्थों से छुटकारा दिलाता है।


अदरक : पूर्व वासी लोगो की जिन्दगी में अदरक दवाओं और आयुर्वेदिक उपचार में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।


•    अदरक बुखार के मामलों में भी काफी उपयोगी साबित होती है। अदरक शरीर के तापमान को कम करता है क्योकि अदरक खाने से पसीना होता है जो अंगों को ठंडा कर देते है।


•    अदरक खनिज, क्रोमियम, मैग्नीशियम की खान है इसके अलावा त्वचा में सूजन और सूरज की किरणों से त्वचा में हुए नुकसान की भरपाई करता है।


•    अदरक रक्त संचरण को भी सामान्य रखता है।

आलू : ज्यादातर लोगो के मोटापे ग्रसित होने की वजह से स्वास्थ्य विशेषज्ञ आलू के खिलाफ चेतवानी देते नजर आते है लेकिन स्टार्चयुक्त होने के वजह से इसके कई स्वास्थ्य लाभ है जिनके बारे में शायद आप नही जानतें।


•    छिलके सहित आलू निम्न रक्तचाप में मदद करते हैं।


•    आलू स्टार्चयुक्त होने के साथ-साथ बी -6 से भी काफी धनी होता है जो शरीर में नई कोशिकाओं के निर्माण के साथ-साथ हृदय तथा रक्तवाहिकाओं संबंधी बीमारयों से भी रक्षा करता है।


धनिया : आपकी सबसे पसंदीदा चटनी में धनिया अभिन्न अंग होने के साथ-साथ खाद्य पदार्थों को रंग देकर सुन्दर बनाने में अहम रोल अदा करता है। धनिया के कई लाभ भी है जिन पर आपने कभी ध्यान नही दिया होगा।


•    धनिया पाचन तत्र के लिए बहुत अच्छा होने के साथ-साथ लीवर और आंतो को स्वस्थ रखने में अपना योगदान देता है।


•    सूप और सब्जियों के रस में इसके पत्ते शामिल कर इसका लाभ उठा सकते है। धनिया का इस्तेमाल उल्टी, दस्त जैसे विकारो में भी किया जाता है।


•    धनिया की सहायता से आप बुरे कोलेस्ट्रॉल पर काबु पा कर अच्छे कोलेस्ट्रॉल के स्तर को ऊपर उठा सकते है।


•    धनिया के बीज का उपयोग महिलाएं सुखदायक मासिक धर्म प्रवाह बनाए रखने के लिए भी कर सकती है।

प्याज़ : प्याज को हम आखों में आसू देने और भोजन को स्वाद को जोड़ने की वजह से जानतें है पर असल में इसकी अहिमयत हमारी जिन्दगी में इससे कही ज्यादा है।


•    रक्त में शर्करा की मात्रा को संतुलित करने की वजह से प्याज़ मधुमेह रोगियों की प्रिय बन चुकी है।


•    सर्दी होने के बाद ये श्वसन को सामान्य बनाए रखने और सीने में उत्पन्न दर्द को भी कम करता है।


•    रक्तचाप संतुलन बनाने ,तनाव को कम करने और लू से बचा कर कई मायनों में हमारी बॉडी को स्वस्थ रखता है।


टमाटर : टमाटर सलाद का अहम हिस्सा होने के साथ-साथ टमाटर करी ,टोमाटो चटनी के अलावा इसका इस्तेमाल भोजन में हमारे स्वाद को संतुष्ट करने के लिए भी प्रयोग किया जाता है। टमाटर स्वाद देने के साथ-साथ हमे निम्नलिखीत तरीको से स्वस्थ भी रखता है।


•    टमाटर को मनमोहक लाल रंग देने वाला लाइकोपीन महिलाओं को उम्र के अंतिम पड़ाव में कमजोर हो रही हड्डियों को बचाता है।



•    टमाटर फेफड़े, पेट और प्रॉस्टैट ग्रन्थि को कैंसर से दूर रखता है।




•    दिल से संबंधित बीमारियों के खतरे से भी टमाटर हमें काफी दूर रखता है।



•    टमाटर पोटेशियम युक्त होने की वजह से।


•    खाँसी की वजह से उत्पन्न बलगम की शिकायत भी टमाटर आसानी से दूर  कर देता है।

 
नमक : अक्सर हम सुनते और बोलते है नमक स्वादनुसार ! इससे ये बात तो साफ़ जाहिर हो जाती है कि नमक भोजन को स्वाद देता है पर आज हम इसके कुछ ऐसे  गुणों के बारे में जानेंगे जो स्वाद के साथ हमें हेल्दी भी रखेगा।


•    तंत्रिकाओं को कुशलता से काम करने में सोडियम काफी मदद करता है और सोडियम सबसे आसानी से सिर्फ नमक में ही मिलता है।




•    बेहतर स्वास्थ के लिए सोडियम भी उतना जरूरी है जितना की अन्य तत्व।




•    साधरण नमक के अलावा आप सेंधा नमक का इस्तेमाल चर्म रोग,  आखों के रोग तथा शरीर में जकड़न सहित अनेक बीमारियों से बचने के लिए भी कर सकते है।

 
ऊपर दिए गये सभी खाद्य पदार्थ हमे नियमित रूप से रशोई घर में मिल जाते है। बस अब बिना देर किये रोजाना इनके प्रयोग से अदभुत स्वास्थय लाभ ले सकते है।  
 


Comment Box