स्ट्रेच मार्क्स निशान को रोकने के लिए कुछ सुझाव

Views:5190

स्ट्रेच मार्क्स के निशान को कम करने के लिए आप बहुत से तरीके अजमा सकते है लेकिन कोई ऐसा सिद्ध तरीका शायद ही मिले जो स्ट्रेच मार्क्स निशान को जड़ से मिटा दें। स्ट्रेच मार्क्स वजन बढ़ाने के बाद त्वचा में फैलाव के बाद या फिर गर्भधारण के समय बेबी बंप आने जाने के बाद पड़ते है। अगर आप गर्भवती नहीं हैं फिर भी आपकी बॉडी में स्ट्रेच मार्क्स के निशान पड़ सकते है क्योकि आपका वजन समान्य से अधिक तेजी से बढ़ रहा होता है।



स्ट्रेच मार्क्स के निशान अगर साफ़-साफ़ नजर आने लगे है तो स्ट्रेच मार्क्स त्वचा के उपरी परत तक ही सिमित नही रह गया है। अंतर्निहित परतों तक कोलेजन बन चुके है जो खिंचाव के निशान के रूप में दिखाई देते हैं। एंटी-स्ट्रेच मार्क क्रीमे जो आज बाजार में उपलब्ध है वह सभी उपरी परत पर ही कुछ हद तक काम करती है अंतर्निहित परतों में वह बेअसर साबित होती है इसलिए स्ट्रेच मार्क्स को निशान को रोकना या कम करना काफी मुश्किल हो जाता है।

बॉडी पर स्ट्रेच मार्क्स आने में आनुवंशिकी भी भूमिका निभाते है। अगर आपकी माँ की बॉडी पर स्ट्रेच मार्क्स है तो इस बात की संभावना है कि आपकी बॉडी पर भी यह निशान हो। बॉडी पर यह निशान काफी लाल भूरे रंग या पीले रंग के हो सकते है। अगर आप गर्भवती है और बच्चे को जन्म दे चुकी है तो आपकी स्ट्रेच मार्क त्वचा के रंग पर निर्भर करते है वैसे अधिकतर औरतो की बॉडी पर पतली चांदी या हल्के भूरे रंग की लाइन पड़ती है।



नीचे हम कुछ सुझाव दे रहे है जो स्ट्रेच मार्क्स के निशान की उपस्थिति को कम करने या फिर निशान होने से रोकने में मदद मिलेगी।


  • एंटीऑक्सीडेंट,विटामिन ई, विटामिन ए, ओमेगा -3 फैटी एसिड से युक्त खाद्य पदार्थो का सेवन अधिक से अधिक करें। ताजे फल, सब्जियां, अनाज, बीज और नट्स का सेवन आपके आपके लिए स्वस्थ आहार होगा।


  • अपनी त्वचा को हमेशा हाइड्रेटेड रखने व अधिक इलास्टिक युक्त करने के लिए खूब पानी पिए। आप पानी की मात्रा को शरीर में पूर्ण करने के लिए तरबूज,खीरा और लौकी आदि सब्जियां ले सकते है।


  • अगर आपका वजन कम है तो वजन बढाने की प्रक्रिया धीरे-धीरे करें।


  • वजन को नियंत्रित करने के लिए नियमित रूप से व्यायाम की मदद लें।


  • त्वचा नरम रखने में आप मॉइस्चराइजिंग क्रीम की मदद ले सकते हैं लेकिन इस पर आप इतना भरोसा नहीं कर है कि यह स्ट्रेच मार्क्स को रोक देगा। कई गर्भवती माताएं गेहूं के बीज वाला तेल उपयोग करती है, आप नारियल तेल, अरंडी का तेल, जैतून का तेल या बादाम तेल का उपयोग त्वचा को मुलायम रखने व निशान के प्रभाव को कम करने के लिए उपयोग कर सकती है।


  • विटामिन ई के कैप्सूल गर्भावस्था में लेना कई बार सुरक्षित नही होता है इसलिए डॉक्टर से बात करने के बाद ही कोई भी विटामिन की खुराक ले।

और पढ़े

Comment Box

    User Opinion
    Your Name :
    E-mail :
    Comment :

Category

अनुष्का शर्मा से जुड़े सौंदर्य और स्वास्थ्य


अस्थमा


आँखों की देखभाल


आयुर्वेदिक होम टिप्स


आलिया भट्ट का डाइट प्लान


एनीमिया


एलर्जी


औरत के लिये


कद बढाने के टिप्स


किशोर


कैंसर


कैटरीना कैफ से जुड़े सौंदर्य और स्वास्थ्य टिप्स


कोल्ड


क्रॉस लेग पोजीसन में बैठना


गर्दन


गर्भपात


गर्भावस्था


गर्मियों में त्वचा की देखभाल


गर्मी


घुटनों के टिप्स


झाइयां


झुर्रियाँ


डायबिटीज


डिप्रेशन


डेंगू


तनाव


त्यौहार


त्वचा


त्वचा की देखभाल


दाँतों की देखभाल


दिमाग की याददाश्त और शक्ति को बढाने के टिप्स


दिल की बीमारी


दुल्हन


नींबू पानी फायदे


पसीने की दुर्गन्ध से छुटकारा पाने के टिप्स


पालन पोषण


पिंपल


पीरियड


पुरुषों के स्वास्थ्य के टिप्स


पेनिस


पेशेंट की कहानियां


पैरों की देखभाल


फलो के लाभ


फिट रहने के उपाय


बच्चे


बच्चों की देखभाल के टिप्स


बट का आकर बढ़ाने वाले टिप्स


बट मुँहासे के लिए टिप्स


बालों की देखभाल


बीज


बेबी


ब्रेस्ट


ब्रेस्ट हेल्थ टिप्स


महिला स्वास्थ्य के टिप्स


महीना वाइज टिप्स


मानसिक विकार


मुँहासे


मुहांसों से बचाव


मूत्र रंग


मेकअप


योग


वजन घटाने के टिप्स


वजन बढ़ाने के टिप्स


व्यायाम और योगा


सुंदरता से संबंधित टिप्स


सेक्स


सेक्स संबंधित समस्या


सेक्सी पीठ


सेलिब्रिटी हेल्थ टिप्स


सेल्युलाईट से छुटकारा पाने के लिए घरेलू उपचार


स्वाइन फ्लू


स्वाभाविक रूप से टिप्स


स्वास्थ्य और कल्याण


स्वास्थ्य संबंधित टिप्स


स्वास्थ्य A से Z


हरी चाय


होठों की देखभाल के टिप्स


होली


अदिति राव हैदरी से जुड़े सौंदर्य और स्वास्थ्य टिप्स


आलू


कमजोरी


कोल्ड फ्लू


गर्भवती हेल्थ


ग्लो त्वचा


घरेलू नुस्खे


घरेलू फेस पैक


टखने की चोट से जल्द ठीक करने के उपाय


डेंगू बुखार


ड्रिंक


त्रिकोणासन


दिशा पटानी के ब्यूटी टिप्स


नींद


पपीते के पत्ते के फायदे


पानी


पीठ दर्द


प्रेगनेंसी डाइट


फर्टिलिटी


फर्टिलिटी संबंधी समस्या


बालों का झड़ना


ब्रेकफास्ट


ब्लड शुगर


मेटाबोलिज्म


विटामिन


विटामिन ई


विटामिन ए


विटामिन के


विटामिन डी


विटामिन बी


विटामिन सी


शुगर


सांसों की बदबू को रोकने के लिए उपाय


साइनसाइटिस


स्ट्रेच मार्क्स


हस्तमैथुन


हाथों की देखभाल के टिप्स