फर्टिलिटी क्षमता संबंधी समस्याओं का हर्बल उपचार

Views:3060

फर्टिलिटी क्षमता के लिए हर्बल उपचार पद्धति का उपयोग कई वर्षों से किया जाता रहा है। यह हर्बल उपचार फर्टिलिटी समस्याओं से छुटकारा पाने का एक प्रभावी तरीका होने के साथ साथ एक सुरक्षित उपाय भी माना जाता है। कई जड़ी-बूटियाँ हैं जिनका उपयोग से महिलाओं में ओव्यूलेशन को प्रोत्साहित किया जा सकता है और यह जड़ी-बूटियाँ महिलाओं में हार्मोन प्रणाली को सामान्य करने में भी मदद करती है।



कुछ बेहतरीन प्रभावी जड़ी-बूटियों का प्रयोग करके महिलाओं में बांझपन की संभावना को काफी हद तक कम करने में मदद मिलती है। आपके बता दे पुरुष और महिलाएं अपनी फर्टिलिटी समस्या को कम करने के लिए हर्बल उपचार का उपयोग कर सकते है। आइयें जानतें फर्टिलिटी समस्या के लिए टॉप हर्बल उपचार के बारें में जिनका प्रयोग आप कर सकते है।



हेलोनियास रूट : हेलोनियास रूट को यूनिकॉर्न रूट के रूप में जाना जाता है। यह एक आश्चर्यजनक जड़ी बूटी है जो महिलाओं में बांझपन के साथ जुड़ी कई समस्याओं के उपचार में मदद करती है। यह हर्बल उपचार ओव्यूलेशन बढ़ाने में भी साहयक है। हेलोनियास रूट एस्ट्रोजेनिक गतिविधि को बेहतर बनाने के साथ साथ निम्न प्रोजेस्टेरोन स्तरों को भी बढ़ाता है। हेलोनियास रूट महिलाओं में हार्मोनल प्रणाली को सुधारने में मदद करती है।



अश्वगंधा : महिलाओं में फर्टिलिटी समस्या के इलाज में प्रयोग होने वाली यह एक लोकप्रिय हर्बल उपचार है। यह एक एशियाई औषधि है जो आम तौर पर पुरुषों और महिलाओं दोनों के फर्टिलिटी हर्बल इलाज के लिए उपयोग की जाती है। यह एक उत्कृष्ट जड़ी बूटी है जो सामान्य स्थिति में एंडोक्राइन को लाने में मदद करती है इसके अतरिक्त यह एंडोक्राइन के कार्य को भी बढ़ा देती है, अश्वगंधा बॉडी के इम्यून सिस्टम में सुधार लाने का कार्य भी बेहतर ढंग से करती है।



स्टिंगिंग नेटल उर्फ़ बिच्छू बूटी : यह एक ऐसी लोकप्रिय जड़ी बूटी है जो गर्भस्राय खराबी के इलाज में प्रयुक्त होती है यह एक बहुत प्रभावी जड़ी बूटी है जो गर्भधारण की संभावना को बढ़ाने में सहायक है क्योकि फर्टिलिटी क्षमता में यह तेजी से सुधार लाती है और गर्भाशय के अंदर भ्रूण को बनाए रखने में बहुत प्रभावी है जिससे गर्भपात को रोकने में भी मदद मिलती है। महिलाओं को कई महीनों के लिए दो से तीन कप स्टिंगिंग नेटली जड़ी बूटी से बनी चाय पीने की सलाह दी जाती है क्योंकि यह एक स्वस्थ गर्भधारण करने में मदद करती है। प्रसव के बाद भी इस हर्बल टी की मदद माताएं दूध उत्पादन को बेहतर बनाने के लिए भी कर सकती है। बिच्छू बूटी विटामिन ए, डी, ई और के का स्रोत माना गया है।



रास्पबेरी का पत्ता : महिलाओं में फर्टिलिटी क्षमता को बढ़ाने में रास्पबेरी का पत्ता काफी प्रभावी माना जाता है। रास्पबेरी का पत्ता कैल्शियम का एक समृद्ध स्रोत माना जाता है। भ्रूण के सामान्य विकास के लिए बहुत आवश्यक घटक है। आप इसका उपयोग हार्मोनल संतुलन को बनाए रखने के लिए भी कर सकती है।



मक्का रूट : पुरुषों और साथ ही महिलाओं में बांझपन के इलाज के लिए महत्वपूर्ण हर्बल उपचार में से एक मक्का रूट है। मक्का रूट में लगभग 31 विभिन्न प्रकार के खनिज होते है जो फर्टिलिटी क्षमता को बढ़ाते है। यह जड़ी बूटी शरीर के ऊर्जा स्तर को सुधारने और मजबूत बनाने में भी लाभप्रद है। पुरुषों में शुक्राणुओं की संख्या बढ़ाने के लिए एक उत्कृष्ट जड़ी बूटी है। पुरुषों और महिलाओं दोनों में कामेच्छा बढ़ाने के लिए मक्का रूट का उपयोग होता है।



चीनी एंजेलिका : र्भाशय की ताकत देने के लिए एशियाई देशों में चीनी एंजेलिका उत्कृष्ट माना जाता है। चीनी एंजेलिका मासिक धर्म चक्र को ठीक करने और गर्भाशय को मजबूती प्रदान करता है। अनियमित मासिक अवधि और फर्टिलिटी समस्याओं को सुधारने इस हर्बल उपचार का उपयोग उत्तम है।



जई का डंठल : शरीर में हार्मोनल स्तर को बनाए रखने में जड़ी बूटी के रूप में सबसे अधिक इस्तेमाल जई के डंठल का होता है। शरीर के कोलेस्ट्रॉल स्तर को सुधारने और तंत्रिका तंत्र के कार्य को प्रभावी रूप सुजारु करने में यह जड़ी बूटी लाभकारी है। जई का डंठल में यौन उत्तेजक गुण होते है इसलिए इसका उपयोग सेक्स इच्छा वृद्धि के लिए भी किया जाता है।



लाल तिपतिया घास : फर्टिलिटी की समस्या से निजात के लिए मैग्नीशियम और कैल्शियम बहुत महत्वपूर्ण खनिजों में शामिल है और लाल तिपतिया घास में यह दोनों खनिज बहुतायत में पाए जाते हैं। महिलाओं की फर्टिलिटी क्षमता के लिए सबसे अच्छे हर्बल उपचारों में से एक है। लाल तिपतिया घास एंडोक्राइन प्रभावी ढंग से सुधारने में महत्वपूर्ण योगदान देती है जिसके कारण महिलाएं आसानी से गर्भ धारण करने में मदद मिलती है। लाल तिपतिया घास गर्भाशय को पोषण देती है।



अगर आप भी फर्टिलिटी क्षमता की समस्या से पीड़ित है और समाधान खोजने के लिए हर्बल उपचार की तलाश है तो उपर दिए नुस्खे बांझपन और हार्मोन संबंधी समस्याओं को दूर करने में अहम योगदान दे सकते है।

और पढ़े

Comment Box

    User Opinion
    Your Name :
    E-mail :
    Comment :

Category

अनुष्का शर्मा से जुड़े सौंदर्य और स्वास्थ्य


अस्थमा


आँखों की देखभाल


आयुर्वेदिक होम टिप्स


आलिया भट्ट का डाइट प्लान


एनीमिया


एलर्जी


औरत के लिये


कद बढाने के टिप्स


किशोर


कैंसर


कैटरीना कैफ से जुड़े सौंदर्य और स्वास्थ्य टिप्स


कोल्ड


क्रॉस लेग पोजीसन में बैठना


गर्दन


गर्भपात


गर्भावस्था


गर्मियों में त्वचा की देखभाल


गर्मी


घुटनों के टिप्स


झाइयां


झुर्रियाँ


डायबिटीज


डिप्रेशन


डेंगू


तनाव


त्यौहार


त्वचा


त्वचा की देखभाल


दाँतों की देखभाल


दिमाग की याददाश्त और शक्ति को बढाने के टिप्स


दिल की बीमारी


दुल्हन


नींबू पानी फायदे


पसीने की दुर्गन्ध से छुटकारा पाने के टिप्स


पालन पोषण


पिंपल


पीरियड


पुरुषों के स्वास्थ्य के टिप्स


पेनिस


पेशेंट की कहानियां


पैरों की देखभाल


फलो के लाभ


फिट रहने के उपाय


बच्चे


बच्चों की देखभाल के टिप्स


बट का आकर बढ़ाने वाले टिप्स


बट मुँहासे के लिए टिप्स


बालों की देखभाल


बीज


बेबी


ब्रेस्ट


ब्रेस्ट हेल्थ टिप्स


महिला स्वास्थ्य के टिप्स


महीना वाइज टिप्स


मानसिक विकार


मुँहासे


मुहांसों से बचाव


मूत्र रंग


मेकअप


योग


वजन घटाने के टिप्स


वजन बढ़ाने के टिप्स


व्यायाम और योगा


सुंदरता से संबंधित टिप्स


सेक्स


सेक्स संबंधित समस्या


सेक्सी पीठ


सेलिब्रिटी हेल्थ टिप्स


सेल्युलाईट से छुटकारा पाने के लिए घरेलू उपचार


स्वाइन फ्लू


स्वाभाविक रूप से टिप्स


स्वास्थ्य और कल्याण


स्वास्थ्य संबंधित टिप्स


स्वास्थ्य A से Z


हरी चाय


होठों की देखभाल के टिप्स


होली


अदिति राव हैदरी से जुड़े सौंदर्य और स्वास्थ्य टिप्स


आलू


कमजोरी


कोल्ड फ्लू


गर्भवती हेल्थ


ग्लो त्वचा


घरेलू नुस्खे


घरेलू फेस पैक


टखने की चोट से जल्द ठीक करने के उपाय


डेंगू बुखार


ड्रिंक


त्रिकोणासन


दिशा पटानी के ब्यूटी टिप्स


नींद


पपीते के पत्ते के फायदे


पानी


पीठ दर्द


प्रेगनेंसी डाइट


फर्टिलिटी


फर्टिलिटी संबंधी समस्या


बालों का झड़ना


ब्रेकफास्ट


ब्लड शुगर


मेटाबोलिज्म


विटामिन


विटामिन ई


विटामिन ए


विटामिन के


विटामिन डी


विटामिन बी


विटामिन सी


शुगर


सांसों की बदबू को रोकने के लिए उपाय


साइनसाइटिस


स्ट्रेच मार्क्स


हस्तमैथुन


हाथों की देखभाल के टिप्स