हाइट बढाने के सरल अचूक और कुदरती उपाय


Views:375220

किसी भी तरह के व्यक्ति की क्षमताओं को कमजोर नही समझा जा सकता ये सत्य हम सभी जानतें है फिर भी एक अच्छी हाइट वाले इंसान अक्सर ध्यान का केंद्र बन जाते है और उसी स्थान पर कई बार कम हाइट के लोग मजाक का पात्र बन जाते है। अकसर देखा गया है कम हाइट वाले लोगो को अपने जीवन में अन्य लोगो के मुकाबले कुछ पहलुओं में अधिक कठिनाईयों का सामना करना पड़ता है। इन्ही हंसी मजाक और कठिनाईयों का सामना करते हुए कई बार उनके कम कद वालों के मन में विश्वास की कमी आ जाती है और वह हीन भावना से भर जाते है।


कुछ लड़के-लड़कियां अपनी इस हीन भावना को दूसरों से छिपाने के लिए लम्बी हील्स वाली सैंडल और जूते का इस्तेमाल करते है जिसका असर उनके स्वास्थ्य पर काफी बुरा पड़ता है। ऊँची हील्स के प्रयोग की जगह आप हमारें कुछ सुझावों को अपनाकर जेनेटिक कारण होते हुए भी अपने कद की लम्बाई में 20 % तक इजाफा स्वाभाविक रूप से प्राप्त कर सकते है।





समूची नींद : कई पुरानी पीढ़ी के लोग नींद का अभिप्राय आलस्य से लेते है। उनके अनुसार मेहनतकश लोगो के लिए जितनी नींद कम ली जाएँ उतना अच्छा है पर सत्य इसके विपरीत है जब हम अपनी पूरी नींद लेते है तो हमारा शरीर ऊतकों का पुन: निर्माण करता है। ऊतकों का पुन: निर्माण से हमारा शरीर तेजी से बढ़ता है। बढ़ते बच्चों और किशोरों को 8 से 11 घंटे तक की पूरी नींद लेना अच्छी हाइट के लिए आवश्यक होता है। उचित और गहरी नींद की आदत अगर किसी को बचपन से हो तो स्वाभाविक रूप से हाइट बढ़ाने में काफी मदद मिलती है।





खेल और कसरत
: व्यायाम और खेलकूद कद प्राप्त करने के सुझावों में सर्वश्रेष्ठ है। शारीरिक रूप से सक्रिय रहने के फलस्वरूप आपका शरीर स्वस्थ रहता है और शरीर में खिचाव के साथ-साथ बॉडी में पोषक तत्वों और विटामिनों की मांग काफी बढ़ जाती है और इसी कारण खेल और कसरत से आपका विकास काफी अच्छा होता है।


आप खेल में तैराकी, एरोबिक्स, टेनिस, क्रिकेट, फुटबॉल, बास्केटबॉल या खींच वाले व्यायाम दैनिक गतिविधियों में शामिल कर एक अच्छी हाइट और अच्छी बॉडी खेल-खेल में हासिल कर सकते है। रीढ़ की हड्डी के साथ हैंगिंग या फिर सिंपल हैंगिंग 12 सेट बनाकर बार-बार दोहराना या 2 घंटे की तैराकी लंबाई बढ़ाने में बहुत कारगर उपाय है।





योगाभ्यास : योग स्वाभाविक रूप से शारीरिक कद बढ़ाने का एक ज़ोरदार तरीका है। योग आपकी अपेक्षा से अधिक अच्छे नतीजे प्रदान करता है इसलिए लम्बाई की चाह रखने वाले कभी भी योग की अनदेखी ना करें। योग में खींच और संतुलन वाले योग का अभ्यास कर आप मांसपेशियों को मजबूत कर अपनी शारीरिक मुद्रा में भी सुधार ला सकते है आप अच्छी हाइट के लिए भुजंगासन, ताड़ासन,त्रिकोणासन,सुखासन और सूर्यनमस्कार को अपनी दैनिक दिनचर्या में शामिल कर सकते है।





डाइट : एक अच्छी हाइट के लिए संतुलित आहार उचित पोषण के साथ-साथ लम्बाई पर नकारात्मक प्रभाव पैदा करने वाले खाद्य पदार्थों जैसे जंक फूड अत्याधिक चीनी युक्त भोजन या ड्रिंक अधिक वसा और कार्बोनेटेड पेय से दूरी भी अत्याधिक जरूरी है। आप इनके स्थान पर शरीर की जरूरत के अनुसार विटामिन और खनिज युक्त पदार्थ के साथ घर पर फ्रूट्स और नट्स के स्वादिष्ट पकवान और पेय बना कर इस्तेमाल कर सकते है।


विटामिन डी और प्रोटीन वृद्धि हार्मोन में मदद बेशक लम्बाई विकसित करने की अनुमति देता है पर शरीर के समुचित विकास के लिए मैग्नीशियम फास्फोरस कार्बोहाइड्रेट और विटामिन जैसे अन्य पोषक तत्वों को नजरअंदाज हरगिज नही किया जा सकता इसलिए आप डेयरी उत्पादों और हरी सब्जियों के साथ-साथ शतावरी अंडे, कस्तूरी और मूंगफली फलियां, दुबला मांस और नट्स भी शामिल करें। ये शारीरिक विकास का अच्छे से नेतृत्व कर सकते हैं। कैल्शियम हड्डियों की वृद्धि और विकास के लिए आवश्यक होता है इसलिए पनीर,दूध दही,घी मक्खन इत्यादी रोज बदल-बदल कर शामिल कर सकते है।





दूरी है बहुत जरूरी : अगर आप ने अपनी लंबाई बढानी है तो सब उपायों के साथ-साथ बाहरी या आंतरिक से शरीर को प्रभावित करने वाले अवरुद्ध को सदा के लिए त्यागना पड़ेगा। कम उम्र में अल्कोहल और ड्रग्स आपके और आपकी अच्छी हाइट के बीच में सबसे बड़ी बाधा है इसलिए आपको शराब,सिगरेट,कैफीन युक्त पेय के अलावा स्टेरॉयड से भी दुरी रखना अतिआवश्यक है। ये सभी हड्डियों के विकास को बाधित कर हाइट पर प्रतिकूल प्रभाव डालते है।


प्रतिरक्षा प्रणाली: कई बार बचपन की बीमारियों की वजह से हाइट पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है इसलिए बचपन से ही बच्चों को नियमित टीकाकरण कराते रहना चाहिए इसके अलावा खाद्य पदार्थ खाने से भी हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली काफी मजबूत होती है।

एंटीऑक्सीडेंट और ओमेगा -3 फैटी एसिड में अमीर फल, सब्जियां, फलियां, साबुत अनाज का सेवन और हाइड्रोजनीकृत और नकली मक्खन से परहेज हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली को स्वस्थ बनाए रखने में काफी योगदान देता है।





आत्मविश्वासी बनें : कई बार कुछ समय के लिए हमारी हाइट अन्य लोगो के मुकाबले कम होती या फिर रुक जाती है। ऐसे समय में हीन भावना पैदा करने की जगह आत्मविश्वास बने। एक सकारात्मक मानसिकता ही जीवन में परिवर्तन ला सकती है इसलिए बचपन से ही विश्वास खेती कर अपने आत्मविश्वास का निर्माण करें। हीन भावना आपके शरीर में विकार पैदा कर देती है और कई बार इस कारण में भी उम्र कम होने पर मतलब समय से पहले शरीर का विकास रुक जाता है। अच्छे शारीरिक विकास के लिए तनाव मुक्त और सकरात्मक विचार बहुत जरूरी है।


ऊपर दिए सभी सुझावों को अपने जीवन में अपनाकर कम हाईट की समस्या को कुछ हद तक अवश्य ही कम कर सकते है इसके अतिरिक्त अगर आपकी हाइट नही बढ़ रही है तो बिना देरी किये डॉक्टर से सम्पर्क साध हाइट रुकने के कारणों का पता लगा उन्हें दूर करने का प्रयास करें।


Comment Box