नई दुल्हने विवाह के बाद परफेक्ट बॉडी शेप और फिटनेस के लिए अपनाएं ये मंत्र


Views:12050

नई नवेली दुल्हन विवाह के बाद सबसे अधिक किसी चीज को लेकर लापरवाही करती है तो वह है उसकी फिटनेस। शादी के दिनों में खूबसूरत और फैब दिखने वाली ब्यूटीफुल महिलाएं विवाह के बाद वसा से लद जाती है। नई दुल्हन को विवाह के कुछ दिन पहले से पार्टी और बाहर का खाना मिलना शुरू हो जाता है और ये सिलसिला हनीमून के दौर तक चलता है जिस वजह से उनके स्वास्थ्य और फिटनेस का संतुलन बिगड़ने लगता है।  


विवाह के कुछ महीनों तक दुल्हनों को घर और बाहर के काम से छुट्टी मिल जाती है जो उनके स्वस्थ जीवन शैली में बड़ा परिवर्तन लाता है इसी कारण विवाह के बाद अधिकतर महिलाओं में मोटापे की शिकायत देखी गई है। अगर आप को भी लगता है कि आप भी विवाह के बाद स्वास्थ्य मुद्दे भूल सकती है या फिर आप विवाह के बाद से स्वस्थ जीवन शैली का पालन नही कर रही है तो कुछ आसान तरीके को सूचीबद्ध कर और उनका पालन कर विवाह के बाद भी फिट रह सकती है।





कम कैलोरी वाले भोजन : भारतीय पत्नियों को अपने पतियों के लिए भोजन बनाना काफी पसंद आता है और वह इसमे विशेष रूचि भी दिखाती है। विवाहित महिलाएं अपने इस गुण का लाभ उठा कर अपनी और अपने पति की फिटनेस कायम कर सकती है। महिलाएं किचन से वसायुक्त खाद्य पदार्थों को अलविदा कह सकती है। अगर शुरूआती विवाह के दिनों में ये संभव ना हो तो वह सप्ताहांत और विशेष अवसरों के लिए ही वसायुक्त भोजन चुने इसके अलावा आप कम कैलोरी वाला भोजन स्वादिष्ट रूप से बना कर बाहर के खाने के खर्च और बीमारी दोनों से खुद और अपने पति को बचा सकती है।





फिटनेस के लिए बुद्धिमता : विवाह के शुरुआती दिनों में अगर आप फ्रिज की जिम्मेदारी खुद उठा लेती है तो आपकी सास का काम भी कम होगा और आपको फिटनेस और तारीफ दोनों मिलेंगी। फ्रिज की जिम्मेदारी लेते ही आप तले हुए स्टोर स्नैक्स ,मिठाईयों और फैटी फ़ूडस को जल्द से जल्द किसी भी बहाने से बाहर निकाल कर उनकी जगह फल ,सब्जियों के साथ-साथ हेल्थी ड्रिंक्स और अच्छे जूस रख कर अपनी फिटनेस विवाह के बाद भी कायम रख सकती है।





पति के साथ बाहर जाने की योजना : अपने पति के साथ रोमांटिक मूड में बाहर जाने का ये कतई अर्थ नही है कि आप चिप्स के एक बडे कटोरे के साथ एक रोमांटिक डिनर या मूवी देखने ही जाए। आप अपने पति के साथ जिम भी जा सकती है ये भी काफी रोमांटिक और स्वास्थ्यवर्धक भी होगा इसके अतिरिक्त आप रोमांटिक मूड में अपने पति के साथ डांस भी कर सकती है या आप अपने पति के बाहें पकड़ रोजाना पार्क में या अपने घर की छत पर कुछ दुरी की पैदल यात्रा करने का प्लान बना सकती है। रोजाना पति के साथ सैर करने की आदत आपके पति और आपके बीच विश्वास पैदा करने और  आपकी नई शादी से उत्पन्न स्ट्रेस को कम करने में भी मदद करेगा।





कसरत जरुर करें : अगर आप विवाह के बाद सारा दिन घर में रहती है और घर में आपको अधिक काम नही करना पड़ता है तो यह दिनचर्या आपको जल्द ही मोटी बना देगी इसलिए अगर आपके सामने ऐसी स्थिति विवाह के बाद पड़ जाती है तो अधिक घबराने की जरूरत नही है आप रोजाना कम से कम 40 मिनट योग या कसरत कर अपनी फिटनेस और बॉडी शेप कायम रख सकती है। योग और कसरत उन महिलाओं को भी अपनाना चाहिए जो बाहर या घर पर अधिक काम करती है। अगर वह रोजाना समय नही निकाल पाती है तो भी उन्हें सप्ताह में 4-5 घंटे अवश्य निकालने चाहिए। योग और कसरत करने से आप मानसिक रूप से मजबूत और शरीरक सुंदर बनेंगी।





गुस्से में गलत खाना : कुछ महिलाएं शादी के बाद झगड़े, मन मुटाव का सामना होते ही सबसे पहले अपना खाना त्याग देती है और उसके स्थान पर फ़ास्ट फ़ूड या चॉकलेट, कैंडी वसायुक्त और बाजारी खाद्य पदार्थों से अपनी भूख शांत करने की कोशिश करती है। कई बार महिलाओं का ये सिलसिला कई-कई दिन तक चलता है जिससे उनकी बॉडी शेप और स्वास्थ्य पर बुरा असर पड़ता है। अपनी भावनाओं पर काबू रखना और हर मुद्दे को बातचीत से हल करने का गुण ही महिलाओ को सर्वश्रेष्ठ ग्रहणी एवं सुंदर लेडी बनाता है।





परिवार में फिटनेस के लिए प्रेरणा पैदा करें : आप अपनी प्राथमिकता में फिटनेस को शामिल करें और बॉडी को हमेशा बेहतर शेप में रखने का ठोस प्रयास करें। निश्चित ही आपको उर्जावान और आपकी परफेक्ट बॉडी शेप देख आपका पूरा परिवार आप से प्रेरणा लेगा और आपके पति भी फिटनेस के लिए जागरूक बनेंगे।


सभी उपायों का पालन करते हुए एक बात का विशेष ध्यान रखें कि आप फिटनेस को लेकर अधिक सख्ती ना ही परिवार के लिए और ना ही खुद के लिए करें। ठीक अवसरों पर परिवार का मान रखते हुए आप कभी-कभी तली हुई और शक्करयुक्त खाद्य पदार्थों का लुफ्त अपने पति के साथ उठा सकती है। इसके अतिरिक्त योग सैर और कसरत में अपने पति का मूड देख कर ही उन्हें अपने साथ शामिल करें।


Comment Box