जानें गर्भावस्था के लिए कौन से आहार लेना चाहिए और कौन से नही लेने चाहिए

Views:4850

गर्भावस्था के दौरान आप जो भोजन करती है उसका सीधा असर बच्चे के स्वास्थ्य और विकास को प्रभावित करता है इसलिए भोजन करते समय आपको अधिक सावधान रहना चाहिए। स्वस्थ आहार लेने से आपको सुरक्षित और स्वस्थ गर्भावस्था मिलती जो बच्चे को सुरक्षित जन्म देने में बड़ी मदद करती है। बच्चे के भविष्य का विकास गर्भावस्था के दौरान मिले पोषण के प्रकार पर निर्भर करता है।



आज हमने डॉक्टरों की सलाह से भोजन की एक सूचि तैयार की है जो गर्भावस्था के दौरान लेने से बच्चे को बेहतर विकास और स्वास्थ्य प्राप्त होता है, हमने डॉक्टर इस बात पर भी चर्चा की है कि महिलाओं को गर्भावस्था के दौरान किस तरह के आहारों से परहेज करना चाहिए।

आइयें जानतें है गर्भावस्था के दौरान एक गर्भवती महिला को किस तरह का भोजन करना चाहिए

फलों और सब्जियों का टोकरा रखे : फल और सब्जियां विटामिन फाइबर और खनिजों का महत्वपूर्ण स्रोत होते है। आप अपने दैनिक आहार में इंद्रधनुष खाद्य पदार्थों को शामिल करें। आप विभिन्न रंग वाले फल और सब्जियों का सेवन करती है तो आपके बच्चे को सभी विभिन्न प्रकार के पोषक तत्वों की कमी से जूझना नही पड़ेगा। प्रेग्नेंट महिला के शरीर को जस्ता, विटामिन सी और फोलिक एसिड की पर्याप्त मात्रा की आवश्यकता होती है जो आसानी से फलों और सब्जियों की मदद से पूरी की जा सकती है। ब्रोकोली और संतरे विटामिन सी के एक बड़े स्रोत होते है वही पालक लोहे का अच्छा स्रोत हैं।



गर्भवती महिलाएं भोजन में इन आहारों से रखें परहेज

ओमेगा-3 फैटी एसिड युक्त भोजन खाएं : गर्भावस्था के दौरान ओमेगा-3 फैटी एसिड के सेवन में बढ़ोतरी के कई लाभ हो सकते हैं। इसके सेवन से मस्तिष्क के विकास में बहुत मदद मिलती है। शोधकर्ताओं द्वारा पाया गया है कि ओमेगा-3 का सेवन करने वाली माताओं से पैदा हुए बच्चे अन्य बच्चो की तुलना में औसत से अधिक कुशल होते हैं। ओमेगा-3 फैटी एसिड विशेष रूप से मछलियों से प्राप्त होता है।



पर्याप्त मात्रा में तरल पदार्थ लें : अगर प्रेग्नेंट महिला अधिक पौष्टिक तरल पदार्थ की मदद से भी ले सकते है। गर्भवती महिला अगर पानी और ताजे फल के रस का सेवन नियमित रूप से करती है तो उसे कब्ज से राहत तो मिलती है साथ में आवश्यक पोषक तत्वों और ऑक्सीजन को कुशलतापूर्वक ग्रहण कर लेती है जो इन दिनों में काफी महत्वपूर्ण होते है। गर्भावस्था में हमेशा अपने साथ पानी की एक बोतल रखे और छोटी छोटी घूंट ले कर इसके सेवन करें।



प्रीनेटल विटामिन : भ्रूण के स्वस्थ विकास जन्म के पूर्व विटामिनों की कमी ना हो इसलिए प्रीएन्टल विटामिन लेना एक समझदारी भरा फैसला होता है। गर्भावस्था के दौरान, आपके शरीर को लोहे, कैल्शियम और फोलिक एसिड की अधिक जरूरत होती है और प्रीनेटल विटामिन यह सुनिश्चित करता है कि आपने पर्याप्त मात्रा में उन सभी को प्राप्त कर लिया है।

ब्रेकफास्ट करना ना भूले :
ब्रेकफास्ट सबसे महत्वपूर्ण भोजन होता है इसलिए आप गर्भवती है तो ओटमील या फलों के साथ अनाज प्राप्त कर सकते हैं।



डेयरी प्रोडक्ट लें : दूध को अपने आहार के जरूरी हिस्से के रूप में शामिल करें क्योकि दूध मजबूत हड्डियों और दांतों के निर्माण के लिए कैल्शियम से आपके शरीर परिपूर्ण करता है।



गर्भावस्था के दौरान एक गर्भवती महिला को क्या नही खाना चाहिए

शराब का सेवन न करें : गर्भावस्था के दौरान शराब पीने के कारण शिशु के जन्म विकास और स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं पैदा हो सकती है। जन्म से पहले अल्कोहल का सेवन करने से मस्तिष्क क्षति और गर्भपात में असामान्यता हो सकती है। किसी भी लिहाज गर्भावस्था के दौरान शराब सेवन को सुरक्षित साबित नही होता है।



खाद्य पदार्थ जो गर्भवती महिलाओं के लिए एकदम सही है

आधा पका हुआ मांस और कच्चा समुद्री भोजन : कच्चा मांस और कच्चा समुद्री खाद्य पदार्थ खाने से पूरी तरह बचे। यह भोजन आपके होने वाले बच्चे के लिए जहर बन सकता है इसके सेवन से साल्मोनेला और टॉक्सोप्लाज्मोसिस जैसे रोग हो सकते है।



* प्रतिदिन मांस नही खाना चाहिए क्योकि इससे गर्भपात का खतरा उत्पन्न हो सकता है।

अप्रसाहित दूध उत्पादों का उपभोग न करें : दूध और दूध उत्पादों में लिस्टिरिया भी शामिल है तो सुनिश्चित करें कि आपके द्वारा उपभोग किए जाने वाला दूध पाश्चराइज किया गया हो।

!#Pregnancy Diet!#Pregnancy!#Pregnancy Health!#Water!#Women!#Women Health

Comment Box

    User Opinion
    Your Name :
    E-mail :
    Comment :

Most Popular Facts

Most Popular Health Post

Most Popular Relationship Articles

Category

अनुष्का शर्मा से जुड़े सौंदर्य और स्वास्थ्य


अस्थमा


आँखों की देखभाल


आयुर्वेदिक होम टिप्स


आलिया भट्ट का डाइट प्लान


एनीमिया


एलर्जी


औरत के लिये


कद बढाने के टिप्स


किशोर


कैंसर


कैटरीना कैफ से जुड़े सौंदर्य और स्वास्थ्य टिप्स


कोल्ड


क्रॉस लेग पोजीसन में बैठना


गर्दन


गर्भपात


गर्भावस्था


गर्मियों में त्वचा की देखभाल


गर्मी


घुटनों के टिप्स


झाइयां


झुर्रियाँ


डायबिटीज


डिप्रेशन


डेंगू


तनाव


त्यौहार


त्वचा


त्वचा की देखभाल


दाँतों की देखभाल


दिमाग की याददाश्त और शक्ति को बढाने के टिप्स


दिल की बीमारी


दुल्हन


नींबू पानी फायदे


पसीने की दुर्गन्ध से छुटकारा पाने के टिप्स


पालन पोषण


पिंपल


पीरियड


पुरुषों के स्वास्थ्य के टिप्स


पेनिस


पेशेंट की कहानियां


पैरों की देखभाल


फलो के लाभ


फिट रहने के उपाय


बच्चे


बच्चों की देखभाल के टिप्स


बट का आकर बढ़ाने वाले टिप्स


बट मुँहासे के लिए टिप्स


बालों की देखभाल


बीज


बेबी


ब्रेस्ट


ब्रेस्ट हेल्थ टिप्स


महिला स्वास्थ्य के टिप्स


महीना वाइज टिप्स


मानसिक विकार


मुँहासे


मुहांसों से बचाव


मूत्र रंग


मेकअप


योग


वजन घटाने के टिप्स


वजन बढ़ाने के टिप्स


व्यायाम और योगा


सुंदरता से संबंधित टिप्स


सेक्स


सेक्स संबंधित समस्या


सेक्सी पीठ


सेलिब्रिटी हेल्थ टिप्स


सेल्युलाईट से छुटकारा पाने के लिए घरेलू उपचार


स्वाइन फ्लू


स्वाभाविक रूप से टिप्स


स्वास्थ्य और कल्याण


स्वास्थ्य संबंधित टिप्स


स्वास्थ्य A से Z


हरी चाय


होठों की देखभाल के टिप्स


होली


अदिति राव हैदरी से जुड़े सौंदर्य और स्वास्थ्य टिप्स


आलू


एसिडिटी का कारण लक्षण और इलाज


कमजोरी


कोल्ड फ्लू


गर्भवती हेल्थ


ग्लो त्वचा


घरेलू नुस्खे


घरेलू फेस पैक


जैकलिन फर्नांडीज फिटनेस सीक्रेट


टखने की चोट से जल्द ठीक करने के उपाय


डेंगू बुखार


ड्रिंक


त्रिकोणासन


दिशा पटानी के ब्यूटी टिप्स


नाखून


नींद


पपीते के पत्ते के फायदे


पानी


पीठ दर्द


प्रेगनेंसी डाइट


फर्टिलिटी


फर्टिलिटी संबंधी समस्या


बांझपन स्वास्थ्य समस्या


बालों का झड़ना


ब्रेकफास्ट


ब्लड शुगर


मेटाबोलिज्म


वजाइना को हेल्थी रखने के टिप्स


विटामिन


विटामिन ई


विटामिन ए


विटामिन के


विटामिन डी


विटामिन बी


विटामिन सी


शुगर


सांसों की बदबू को रोकने के लिए उपाय


साइनसाइटिस


स्ट्रेच मार्क्स


स्तनपान


हस्तमैथुन


हाथों की देखभाल के टिप्स


Back to Top