जानें स्तन का आकार बढ़ाने और लूज होने से रोकने के लिए योग मुद्राएं कैसे करें

Views:73090

एक शोध के अनुसार आज लगभग हर महिला अपने स्तन आकार को लेकर जागरूक है और बहुत ही कम ऐसी महिलाएं है जो अपने स्तन के आकार से संतुस्ट है। कुछ महिलाओं ने अपने ब्रेस्ट आकार को कम करने की कोशिश में कड़ी मेहनत की है तो वही दूसरी तरफ कुछ महिलाएं इन्टरनेट पर ब्रेस्ट का आकार कैसे बढ़ाये? सवाल का हल जनाने का प्रयास करती नजर आती है।



आज की स्थिति की बात करें तो छोटे स्तन वाली महिला बड़े स्तन नही होने की वजह से हीन भावना से ग्रस्त हो जाती है और वह बड़े स्तन को प्राप्त करने के लिए किसी भी हद तक जाने को तैयार रहती है। क्रीम, जैल, तेल और अन्य उपचार की मदद से वह जल्द से जल्द बड़े स्तन की अपनी लालसा को पूरी कर लेना चाहती है। कॉस्मेटिक उपचार ब्रेस्ट आकार बढाने का एक बेहतर विकल्प है पर दुर्भाग्य से सर्जरी आम बजट में नही आती है इसलिए हर महिला ज्ञान होते हुए भी इसका लाभ नही ले पाती है।



योग स्वाभाविक रूप से स्तन बढाने का सबसे सफल,सस्ता और सरल तरीका है। योग की मदद से आप अपनी इच्छा तक स्तन का आकार बड़ा कर सकती है और योग आपके स्तन को लूज होने से बचाता है।



प्रभावी योग आसन निम्नलिखित है जिनकी मदद से आप सुडौल और मनचाहा आकार का स्तन प्राप्त करेंगी।





भुजंगासन : भुजंगासन योग की मुद्रा कोबरा की तरह होती है। भुजंगासन योग का नियमित अभ्यास स्तन आकार को बढ़ाने में मदद करता है और योग आसन काफी सरल भी है। भुजंगासन योग करने के लिए सबसे पहले आप बिलकुल सीधा होकर लेट जाएं उसके बाद हथेली को फर्श पर दबाते हुए शरीर के अगले भाग को ऊपर की तरफ उठा लें। इस योग मुद्रा का अभ्यास करते हुए ईमानदारी से इस बात की जाँच कर ले कि आपका आधा पेट उपर की तरफ हो और पैर जमीन से चिपके बिलकुल सीधे हो। कुछ सेकंड तक अपने आप को इसी स्थिति में रखें उसके बाद आराम में फर्श पर सिर को गिरा लें।



इस स्थिति को 5-6 बार कम से कम दोहराएँ फिर धीरे-धीरे संख्या में वृद्धि करें और यदि कोई हर्निया या अन्य बीमारी है तो बिना डॉक्टरी सलाह के इस योग आसन को ना करें।





गोमुखासन : इस आसन को गाय मुख योग के नाम से भी जाना जाता है क्योकि इस योग को करते समय योगी की स्थिति एक गाय के मुख की तरह हो जाती है। स्तन वृद्धि के लिए इस योग को प्रभावी पाया गया है। कमल में मुद्रा बैठ कर योग आसन को शुरू करें।



पैरों के उपर पैर जमाने के बाद बाएं हाथों को कमर के पीछे से उपर की ओर ले जाए और दाहिने हाथ से सिर के पास से बाएं हाथ को पकड़ने लें। ऐसी ही क्रिया विपरीत दिशा में दोहराएँ।





उष्ट्रासन : अगर आप को लगता है उष्ट्रासन नाम ऊंट की तरफ इशारा कर रहा है तो आप बिलकुल सही सोच रही है जब आप उष्ट्रासन पोजीसन में होते है तो आपकी बॉडी देखने में ऊंट जैसी लगती है। इस योग को अभ्यास करने के लिए अपने घुटनों पर आराम से बैठ जाएं और उसके बाद घुटनों से पुरे शरीर को ऊपर की तरफ करें और हाथों पीछे की तरफ करते हुए अपनी दोनों ऐड़ीयों को पकड़े। जब आप इस मुद्रा में आ जाएं तो सिर जितना पीछे की तरफ ले जा सकती है लेकर जाएं। कुछ सेकंड के लिए इस मुद्रा में रहे और फिर अपनी सुविधा के अनुसार इस प्रक्रिया को दोहराते रहे। उष्ट्रासन करने से स्तन का आकार तो बढ़ता है साथ में यह योग आपके स्तन को लूज नही होने देता है।





वृक्षासन : सावधान मुद्रा से शुरू होने वाला यह योग बॉडी संतुलन पर टिका होता है। देखने में वृक्षासन जितना सरल लगता है असल में उतना सरल यह है नही।



जैसा की हम पहले ही बता चुके है यह मुद्रा सावधान स्थिति से शुरू होती है। सावधान होने के बाद एक पैर को उठाकर अपनी जांघों पर रख लें और दोनों को हाथों को सीधा ऊपर कर नमस्ते की मुद्रा धारण कर श्वास लेने और छोड़ने की प्रक्रिया धीरे-धीरे शुरू कर दें। कुछ समय तक एक मुद्रा में रहने के बाद विपरीत दिशा से दोहराएँ। वृक्षासन स्तन आकार को बढाने और उनमे रक्त संचार की क्रिया को सामान्य करता है।





द्विकोण आसन : स्तन का आकार बढाने वाला यह प्रभावी आसन भी देखने में बिलकुल सरल लगता है और यह भी वृक्षासन की संतुलन बना कर खड़े होकर किया जाता है। द्विकोण आसन करने के लिए सबसे पहले पैरों को सामान्य मुद्रा में खोल लें और उसके बाद दोनों हाथों को अपने बॉडी के पीछे ले जा कर,हाथों की उँगलियों को आपस में जोड़ लें और उसके बाद धीरे-धीरे साँस लेने और छोड़ने के प्रक्रिया करें। 20 से 30 सेकंड मुद्रा में टिके रहने के बाद इसे सुविधा अनुसार दोहराया जा सकता है।



और पढ़े : जानें स्तनों का आकार बढ़ाने के लिए स्तनों की मालिश कैसे करें



ब्रेस्ट का आकर बढ़ाने और उनको सुडौल बनाने के स्वाभाविक सफल उपचार

और पढ़े

Comment Box

    User Opinion
    Your Name :
    E-mail :
    Comment :

Category

अनुष्का शर्मा से जुड़े सौंदर्य और स्वास्थ्य


अस्थमा


आँखों की देखभाल


आयुर्वेदिक होम टिप्स


आलिया भट्ट का डाइट प्लान


एनीमिया


एलर्जी


औरत के लिये


कद बढाने के टिप्स


किशोर


कैंसर


कैटरीना कैफ से जुड़े सौंदर्य और स्वास्थ्य टिप्स


कोल्ड


क्रॉस लेग पोजीसन में बैठना


गर्दन


गर्भपात


गर्भावस्था


गर्मियों में त्वचा की देखभाल


गर्मी


घुटनों के टिप्स


झाइयां


झुर्रियाँ


डायबिटीज


डिप्रेशन


डेंगू


तनाव


त्यौहार


त्वचा


त्वचा की देखभाल


दाँतों की देखभाल


दिमाग की याददाश्त और शक्ति को बढाने के टिप्स


दिल की बीमारी


दुल्हन


नींबू पानी फायदे


पसीने की दुर्गन्ध से छुटकारा पाने के टिप्स


पालन पोषण


पिंपल


पीरियड


पुरुषों के स्वास्थ्य के टिप्स


पेनिस


पेशेंट की कहानियां


पैरों की देखभाल


फलो के लाभ


फिट रहने के उपाय


बच्चे


बच्चों की देखभाल के टिप्स


बट का आकर बढ़ाने वाले टिप्स


बट मुँहासे के लिए टिप्स


बालों की देखभाल


बीज


बेबी


ब्रेस्ट


ब्रेस्ट हेल्थ टिप्स


महिला स्वास्थ्य के टिप्स


महीना वाइज टिप्स


मानसिक विकार


मुँहासे


मुहांसों से बचाव


मूत्र रंग


मेकअप


योग


वजन घटाने के टिप्स


वजन बढ़ाने के टिप्स


व्यायाम और योगा


सुंदरता से संबंधित टिप्स


सेक्स


सेक्स संबंधित समस्या


सेक्सी पीठ


सेलिब्रिटी हेल्थ टिप्स


सेल्युलाईट से छुटकारा पाने के लिए घरेलू उपचार


स्वाइन फ्लू


स्वाभाविक रूप से टिप्स


स्वास्थ्य और कल्याण


स्वास्थ्य संबंधित टिप्स


स्वास्थ्य A से Z


हरी चाय


होठों की देखभाल के टिप्स


होली


अदिति राव हैदरी से जुड़े सौंदर्य और स्वास्थ्य टिप्स


कमजोरी


कोल्ड फ्लू


गर्भवती हेल्थ


ग्लो त्वचा


टखने की चोट से जल्द ठीक करने के उपाय


डेंगू बुखार


त्रिकोणासन


दिशा पटानी के ब्यूटी टिप्स


नींद


पपीते के पत्ते के फायदे


पानी


पीठ दर्द


प्रेगनेंसी डाइट


बालों का झड़ना


ब्रेकफास्ट


ब्लड शुगर


मेटाबोलिज्म


विटामिन


विटामिन ई


विटामिन ए


विटामिन के


विटामिन डी


विटामिन बी


विटामिन सी


शुगर


सांसों की बदबू को रोकने के लिए उपाय


साइनसाइटिस


स्ट्रेच मार्क्स


हस्तमैथुन


हाथों की देखभाल के टिप्स