सर्दी के मौसम में कोल्ड फ्लू और वायरल संक्रमण से बचने के लिए सरल उपाय


Views:1610

कूलर वाले मौसम के बाद जब ठंड की शुरुआत होती है तो ऐसे मौसम में कोल्ड और फ्लू होने की समस्या आम हो जाती है। कई लोग इस मौसम में विभिन्न प्रकार के वायरस से पहले ही चिंतित होने लगते है, उनका चिंतित होना अपने परिवार और स्वास्थ्य के लिए जायज है क्योकि अगर शुरुआती ठंड में बेपरवाह बन कर रहा जाए तो वायरल संक्रमण होने के खतरा बन जाता है।



आपको जानकार हैरानी होगी कि अगर आपका इम्यून सिस्टम बेहतर व पूर्ण रूप से स्वस्थ है तो आप कई वायरल संक्रमण से खुद को बचाने के साथ साथ बड़ी बीमारी को रोकने में भी कामयाब हो सकते है। आइयें जानते है उन क्रियाओं के बारें में जो सर्दी के मौसम में कोल्ड और फ्लू से बचने के लिए अपनाना चाहिए।

व्यक्तिगत सफाई :
अपने हाथ धोने के लिए साबुन का प्रयोग गर्म पानी के साथ करें तो यह अधिक बेहतर होगा। हाथ धोने का अर्थ हथेलियां साफ़ करना नही होता है। हाथ की सफाई के लिए जरूरी है की आपकी हथेलियों के साथ साथ उंगलियों की सफाई भी अच्छे से हो। अच्छी तरह हाथ धोने की क्रिया में आपको अपने हाथों की उगलियों को कम से कम 15 सेकंड के लिए रगड़ना चाहिए। आप सुनिश्चित करें की कुछ भी मुहं में डालने से पहले अपने हाथों को अच्छे से धो लें।

दिन में दो बार दांत साफ़ करें : व्यक्तिगत स्वच्छता आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत बनाने में अहम योगदान देती है तो त्वचा की प्रतिरक्षा प्रणाली के लिए आपको अपने दांतों को कीटाणुओं से अवश्य बचाना चाहिए क्योकि दांतों की सफाई त्वचा की प्रतिरक्षा प्रणाली का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है और इसमें तकलीफ होने पर शरीर के अंगों के बीच तालमेल बिगड़ सकता है और शरीरिक नियमित प्रणाली में बाधा उत्पन्न हो सकती है जिसका असर आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली पर पड़ेगा।



पोषण और आहार : एक स्वस्थ शरीर के लिए स्वस्थ और संतुलित आहार लेना अतिआवश्यक है। फल, सब्जियां, साबुत अनाज, वसा रहित दूध, दुबला मांस, अंडा, मछली, नट्स आदि का प्रयोग नियमित रूप से करते रहना चाहिए।



पर्याप्त नींद : एक स्वस्थ इम्यून सिस्टम के नींद और आराम महत्वपूर्ण क्रिया है। नींद की कमी का असर इम्यून सिस्टम पर पड़ने के अलावा आपके कामकाज पर भी पड़ता है। रोजाना शरीर को कम से कम 8 घंटे की नींद लेना जरूरी हो जाता है। पूर्ण नींद लेने से शरीर और मन दोनों स्वस्थ होते है।

स्ट्रेस कम करें : मास्टर स्ट्रेस बॉडी से कोर्टिसोल हार्मोन को निकलता है जो आपकी पुरानी सक्रियण प्रतिरक्षा प्रणाली को कमजोर करके शरीर में हर एक प्रणाली को प्रभावित करता है। अगर आप चाहते है कि आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा मिले तो नियमित रूप से व्यायाम कर अपने लाइफ से स्ट्रेस को बाहर कर दें।

धूप : विटामिन डी में एक हार्मोन होता है जो प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत बनाने में अहम योगदान देता है। सुबह जल्दी उठ कर आप सूरज की रोशनी लेकर विटामिन डी प्राप्त कर सकते है इसके अतरिक्त विटामिन डी युक्त भोज्य पदार्थों का सेवन करके भी आप अपनी प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत कर सकते है।



भीड़ भरे स्थानों में अपनी नाक और मुंह को कवर करके रखें : बीमारी से बचने के लिए यह जरूरी है कि जब भी आपको जब भी भीड़ भरे स्थानों पर निकलना पड़े तो अपनी नाक और मुंह को कवर कर रखें।


Comment Box